आग से फसल जलने के सदमे किसान ने पिया कीटनाशक जिला चिकित्सालय में मौत

दमोह – जनपद जबेरा की ग्राम पंचायत चिलोद टपरिया में मंगलवार की शाम सार्ट सर्किट से लगी आग में किसान की फसल जलने का सदमा ऐसा बैठा की दूसरे दिन बुधवार की रात्रि में खेत मे वने घर मे रात्रि 8 बजे कीटनाशक दवा पीने की बजह से जिला चिकित्सालय में उपचार के दौरान मौत हो गई है प्राप्त जानकारी के अनुसार टपरिया चिलोद हार में मंगलवार 30 मार्च के 4 बजे डोरी से हुए सार्ट सर्किट की बजह से खेतो में खड़ी गेंहू की फसल में लगी आग से किसान कौन्दू उर्फ बेड़ी पिता रामसिंग अहिवार उम्र 61 वर्स की 62 आरे यानी आधे एकड से अधिक भूमि में खड़ी गेंहू की फसल आग में स्वाहा हो गई थी।

किसान को फसल नष्ट होने का गम इस तरहा बैठा था कि उसने खाना पीना सब कुछ त्याग दिया था और यहाँ वहाँ फसल के गम में रोता विलखता फिरता रहता था किसान बेड़ी अहिवार के साथ अन्य किसानों की फसल भी आग में जल गई थी लेकिन सभी ने किसान को खूब समझाया की गम ना करें सव कुछ ठीक हो जाएगा वावजूद इसके किसान के मन मे फसल नष्ट होने के सदमे से उबर नही पाया ओर किसान बेडी ने बुधवार की रात्रि 8 बजे खेत मे वने मकान के कमरे में फसलो में डालने वाली कीटनाशक दवा का सेवन कर लिया और पिता के कीटनाशक दवा के सेवन से जहर के असर जैसे चीखने चिल्लाने की आवाज बगल के कमरे में सौ रहे छोटे बेटे को सुनाई दी तत्काल कमरे में जाकर देखा तो बगल से कीटनाशक दवा की शीशी पड़ी हुई। पिता की हालत देख पुत्र ने समीपी गांव चिलोद में रहने वाले चाचा पप्पू अहिरवार को खवर दी ओर पप्पू अहिरवार रात्रि 9 बजे टपरिया हार में बने घर पहुंचते ही किसान को उपचार के लिए निजी वाहन से जिला चिकित्सालय ले कर पहुंचा जहाँ पर उपचार के द्वारा किसान की मौत हो गई किसान की मौत होते की किसान के घर मे मातम छा गया और बूढ़ी पत्नी पुत्र छोटी सी नातिन का रो रोकर बुरा हाल है क्योंकि परिवार के पालन पोषण करने वाला परिवार का मुखिया किसान के द्वारा आत्महत्या करने से परिवार बेसहारा हो गया है।

मनोहर शर्मा की रिपोर्ट

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें

Please Share This News By Pressing Whatsapp Button




जवाब जरूर दे 

आप अपने सहर के वर्तमान बिधायक के कार्यों से कितना संतुष्ट है ?

View Results

Loading ... Loading ...


Related Articles

Close
Close

Website Design By Bootalpha.com +91 82529 92275