सावधान नोहटा गौरिया नदी संगम तट पर बड़ी मगरमच्छ की संख्या नदी पार करती गाय पर पीछे से किया हमला ग्रामीणों बचाई गाय की जान

दमोह – जिले की सबसे बड़ी-नोहटा की व्यारमा नदी और गौरैया नदी संगम तट पर मगरमच्छ बड़ी संख्या में दिखाई देने की दहशत लम्वे समय से बनी हुई थी और फ्री मानसून की बारिश में जैसे ही नदी का जल स्तर बड़ा तो मगरमच्छों की हरकत बढ़ गई और नदी पार करते मवेशियों पर मगरमच्छ हमलावर हो गए है मामला है मंगलवार की सुबह समय का जब 7 नग मवेसी नोहटा नदी पार करते हुए दूसरे छोर जा रहे थे तभी भारी भरकम मगरमच्छ ने गायों पर हमला बोल दिया और 6 नग तो नदी से बाहर निकलने में सुरक्षित कामयाब हो गए लेकिन एक बूढ़ी गाय पर पीछे हमला बोल दिया और नदी में नाहा रहे ग्रामीणों के द्वारा नदी किनारे गाय पर हमलावर हुए मगरमच्छ पर लम्वे वांस पर पत्थरो से प्रहार करने की बजह से गाय को छोड़कर मगरमच्छ भाग निकला लेकिन मगरमच्छ के हलमे से कल्लू रैकवार की गाय को 22 टांके उपचार के दौरान लगे है ज्ञात हो कि विगत वर्ष गर्मियों गौरैया नदी किनारे पानी के अंदर रेत के उपर 9 अंडे दिखाई दिए है अंडों की निगरानी के लिए अंडों के आसपास 7 फीट की मदा मगरमच्छ दिखाई दिया इसके पहले भी बाढ़ग्रस्त नदी के टापू पर फंसे मवेशियों पर मगरमच्छ हमले की फिराक में बैठा हुआ था वही हर मौसम में नदी किनारे मगरमच्छ नोहटा की व्यारमा व गौरिया नदी संगम तट पर अक्सर दिखाई देते जिससे व्यारमा नदी मगरमच्छों का कुनबा बढ़ता जा रहा है जिससे नदी नहाने जाने वाले ग्रामीणों मवेशियों को मगरमच्छ के हमले का खतरा बढ़ता जा रहा जिससे सावधान होने की जरूरत है।

मनोहर शर्मा की रिपोर्ट

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें

Please Share This News By Pressing Whatsapp Button




जवाब जरूर दे 

आप अपने सहर के वर्तमान बिधायक के कार्यों से कितना संतुष्ट है ?

View Results

Loading ... Loading ...


Related Articles

Close
Close

Website Design By Bootalpha.com +91 82529 92275